सतीश मिश्रा को तरजीह नही : फ्लॉप हो गया बसपा का ब्राह्मण सम्मेलन

011कायमगंज फर्रूखाबाद। कायमगंज के जनेऊ धारियों ने सजातीय नेता सतीश मिश्रा एडवोकेट को तरजीह नही दी। जिसके कारण बहुजन समाज पार्टी का ब्राह्मण सम्मेलन फ्लॉप हो गया। ब्राह्मणों का सम्मान केवल बहुजन समाज पार्टी में ही सुरक्षित है। इस बात को बुद्धिजीवी ब्राह्मण भली-भांति समझ रहा है। यह विचार शनिवार बसपा के राष्ट्रीय महासचिव एवं सांसद वरिष्ठ नेता सतीश चन्द्र मिश्रा ने सीपी सभागार मैदान में आयोजित पार्टी कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि इस बात का सबूत बसपा की पिछली सरकार में ब्राह्मणों को सबसे अधिक संख्या में जहां मंत्री बनाया वहीं उनकों महत्वपूर्ण विभागों की जिम्मेदारी भी सौंपी गई।

अन्य दलों की सरकार में ब्राह्मणों को कोई तरजीह न देेने का उदाहरण साफ है कि उन्हें अच्छे विभाग का मंत्री बनाया ही नहीं जाता है। उन्होंने भाजपा पर प्रहार करते हुए कहा कि मोदी लोकसभा चुनाव के समय सौ दिन में 15 से 20 लाख बेरोजगार युवाओं को रोजगार देने की ढींग हांक रहे थे। बतायें कितने लोगों को रोजगार मिला। उन्होंने भाजपा को फिजूलखर्ची करने वाली पार्टी करार देते हुए कटाक्ष किया कि लोकसभा चुनाव के समय भाजपा के अस्सी उड़नखटोले प्रचार में उड़ रहे थे। फिर बोले एक उड़नखटोले पर प्रतिदिन पांच करोड़ का औसत व्यय आता है। इस तरह भाजपा ने देश की पूंजी को पानी की तरह बहाते हुए केवल हवाई खर्चे पर चार सौ करोड रूपये रोज व्यय किया।

उनका कहना था कि यह पैसा पूंजीपतियांे का था। इसलिए उन्हीं को मोदी सरकर फायदा पहुंचा रही है। यदि ऐसा नही तो किसानों का कर्ज क्यों नहीं माफ किया। उन्हें सस्ते दर पर कर्ज की व्यवस्था क्यां नहीं कराई। गन्ना मूल्य का सही समय पर भुगतान क्यों नहीं किया। श्रीमिश्र ने कहा कि भाजपा चुनाव के समय राम मन्दिर का मुद्दा उछालती है और इसके बाद कहती है कि यह तो उनके एजेन्डे में ही नहीं है। जनधन खातों के माध्यम से मोदी ने गरीबों का पचास करोड़ रूपया एकत्र कर 1,44 लाख धन्नासेठां को बांट दिया।

ललित मोदी और विजय माल्या को मोदी सरकार ने ही एक सोची समझी साजिश के तहत विदेश जाने का मौका दिया। 500 व 1000 के नोट बन्दी पर उन्होंने कहा कि अव्यवस्था के कारण गरीब व मध्यम वर्गीय लोग स्वास्थ्य सेवाएं नहीं ले पा रहे हैं। प्राइवेट अस्पताल में यह करेन्सी ली नहीं जा रही है और सरकारी अस्पतालों में उपचार का जो हाल है वह किसी से छिपा नहीं है। बसपा नेता ने कांग्रेस पर प्रहार करते हुए कहा कि यह पार्टी शीला दीक्षित को सीएम का चेहरा बनाकर यूपी में लायी है। उन्होंने कहा कि शीला दीक्षित के बचपन से लेकर शिक्षा-दीक्षा तक दिल्ली में ही हुई। यह वहीं शीला हैं जो दिल्ली की मुख्यमंत्री हुआ करती थी।

उस समय उत्तर प्रदेश के लोगों को अपमानित करने में हिचक महसूस नहीं करती थी। कहती थी कि दिल्ली तो अच्छी थी। जब से यूपी वाले दिल्ली में आये तब से ही दिल्ली खराब हो गई। अब वे कांग्रेस की उत्तर प्रदेश में चुनावी नाव खेने के लिए कांग्रेस द्वारा लायी गई हैं। समाजवादी पार्टी पर व्यंग करते हुए बोले कि अखिलेश यादव सिर्फ सेल्फी लेने में व्यस्त रहने वाले मुख्यमंत्री के सिवा और कुछ नहीं है। सैफई परिवार में कलह से सपा छिन्नभिन्न हो चुकी है। मंचों पर तलवारे दिखाई जाती हैं। शुक्र है कि यह तलवारे असली नहीं हैं। नहीं तो पता नहीं क्या हादसा सपा मंच पर ही होता लोगों को दिखाई देता।

बसपा के वरिष्ठ नेता और सोशल इंजीनियरिंग का पार्टी द्वारा जिम्मा सम्भाले सतीश चन्द्र मिश्रा के कायमगंज के ब्राह्मण कार्यकर्ता सम्मेलन में करीब पांच प्रतिशत तक ब्राह्मणों की भागीदारी दिखाई नहीं दी। सम्मेलन स्थल पर बिछाई गयीं कुर्सियां खाली रही। सम्मेलन को ब्राह्मण कार्यकर्ता सम्मेलन के नाम से आहूत किया गया। जिसका प्रचार-प्रसार भी बहुत जोर-शोर से किया गया था। पार्टी के सम्भावित एवं घोषित उम्मीदवार रामस्वरूप गौतम एवं उनके सहयोगियों व सलाहकारों ने ब्राह्मणों को एक जुट करने का दम भी भरा था। किन्तु जैसे-जैसे बैठक का समय नजदीक आ रहा था। आयोजकों के चेहरों पर मायूसी बढ़ती जा रही थी। एक-दूसरे से कानाफूसी कर स्थिति जानने का प्रयास कर रहे थे। गनीमत रही कि वरिष्ठ बसपा नेता के आने के समय उनके साथ कमालगंज से लेकर फर्रूखाबाद व जिले के अन्य स्थानों से पार्टी कार्यकर्ता भारी संख्या में सम्मेलन स्थल पर आ गये। इसी भीड़ ने किसी हद तक संतोष करने का मौका दे दिया। हकीकत में ब्राह्मण इस सम्मेलन से दूर ही रहे। कुछ एक ऐसे लोग जो या तो लाये गये थे या फिर पार्टी में पहले से ही जुड़े हैं के सिवा आम ब्राह्मण समाज ने सतीश मिश्रा को कोई तरजीह नहीं दी।

सोशल मीडिया पर शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>